• Wed. Sep 28th, 2022

24×7 Live News

Apdin News

अमित शाह की यात्रा से देशविरोधी ताकतों में दहशत तो स्वाभाविक है, लेकिन महागठबंधन में हड़कंप क्यों

Byadmin

Sep 22, 2022


नील कमल, पटना : बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और राज्यसभा सदस्य सुशील कुमार मोदी ने कहा कि जिस समय बिहार सहित कई राज्यों में पीएफआई (PFI) की गतिविधियां चिंता का विषय बनी हुई है, उस समय गृह मंत्री अमित शाह का सीमांचल दौरा राष्ट्रीय सुरक्षा की दृष्टि से महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि गृह मंत्री की यात्रा से देशविरोधी ताकतों में दहशत होना तो स्वाभाविक है, लेकिन हड़कंप महागठबंधन में क्यों है? इनके नेता इस तरह की बयानबाजी क्यों कर रहे हैं?

अमित शाह के आगमन पर लालू यादव ने कही ये बात
RJD सुप्रीमो लालू प्रसाद ने अपने कार्यकर्ताओं से कहा है कि वे मजबूती के साथ धर्मनिरपेक्षता और सामाजिक न्याय की विचारधारा को कायम रखें। इसी विचारधारा के साथ 2024 में भाजपा को उखाड़ फेंकना है। लालू यादव ने कहा कि हमने कभी भी भाजपा से समझौता नहीं किया और अपने विचारधारा पर मजबूती के साथ आगे बढ़े, जिस कारण आज हमें सफलता मिली और बिहार में महागठबंधन की सरकार बनी। उन्होंने कहा कि किशनगंज, अररिया, पूर्णिया जैसे इलाके में अमित शाह किस मंशा से आ रहे हैं, ये हम सभी को समझना होगा क्योंकि इनके मन में काला है। इसके अलावा उनके आने के पहले जैसा डिजाइन BJP की ओर से बनाया जा रहा है, उसके लिए सभी को सजग रहने की जरूरत है। लालू यादव बोले कि नीतीश कुमार इस मामले में सजग हैं और वो सारे मामले को तेजस्वी के साथ मिलकर देख रहे हैं। भाजपा के पाखंड और साम्प्रदायिक सोच से बचना होगा। लालू यादव ने कहा, आज मस्जिदों पर भगवा झंडा फहराकर साम्प्रदायिक माहौल खराब करने का प्रयास किया जा रहा है। इससे बचने के लिए RJD और महागठबंधन के सभी नेता वैसी नीतियों के खिलाफ इकट्ठे होकर सामना करने की जरूरत है।

‘सांप्रदायिकता के नाम पर JDU दोहराना चाहती है गांधी मैदान 2013’, अमित शाह के सीमांचल दौरे से पहले बीजेपी का तीखा हमला
‘लालू-नीतीश के सोनिया से मिलने से कोई फर्क नहीं पड़ेगा’
वहीं, सुशील मोदी ने कहा कि जब कांग्रेस खुद एक डूबता जहाज है और राहुल गांधी उत्तर भारत में अपनी परम्परागत सीट तक नहीं बचा सकें, ऐसे में लालू प्रसाद और नीतीश कुमार के सोनिया गांधी से मिलने का बिहार में भाजपा की सफलता पर कोई फर्क पड़ने वाला नहीं है। सुशील मोदी ने कहा कि जब लालू प्रसाद की सेहत अच्छी थी। केंद्र में यूपीए की सरकार भी थी और वे राज्य भर में सभाएं कर लेते थे, तब राजद 2009 के संसदीय चुनाव में केवल 4 सीट जीती थी। उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद तब भी 40 सीट जीतने के दावे कर रहे थे, जब उनकी पार्टी कभी कांग्रेस और कभी लोजपा से तालमेल कर चुनाव लड़ रही थी। लालू प्रसाद 2014 में अपनी बेटी मीसा भारती को नहीं जीता सके और पार्टी फिर 4 सीट पर अटक गई। 2019 के चुनाव में राजद जीरो पर आउट हुआ। उन्होंने कहा कि अब न लालू प्रसाद का स्वास्थ्य अच्छा है और न वे मतपेटी से जिन्न निकालने का करिश्मा कर सकते हैं।

JDU बोली- धार्मिक उन्माद फैलाने आ रहे अमित शाह, BJP ने कहा- ‘पार्टी’ के ताबूत में आखिरी कील ठोकेंगे ललन सिंह
साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने आ रहे अमित शाह: JDU

जनता दल यूनाइटेड को डर है कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के बिहार आने पर सीमांचल से साथ-साथ पूरे बिहार में सांप्रदायिक माहौल खराब हो सकता है। आपको बता दें कि जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह कई बार यह स्पष्ट रूप से कह चुके हैं कि केंद्रीय गृह मंत्री का मुस्लिम बहुल इलाके सीमांचल में आने का मतलब धार्मिक उन्माद फैलाना ही है। उन्होंने ये भी कहा था कि बीजेपी चाहे जितनी भी ताकत लगा ले, बिहार के मुस्लिम बहुल इलाके में वह धार्मिक उन्माद नहीं फैला सकते। बिहार की जनता बीजेपी के सोच को नेस्तनाबूद करेगी। जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने इस बात को अपने दौरे के दौरान कई बार कह चुके है। अब जेडीयू के अन्य नेता भी यही लाइन लेकर बिहार में साम्प्रदायिक माहौल खराब करने का आरोप बीजेपी पर लगा रहे हैं। 23 सितंबर को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह दो दिवसीय बिहार दौरे पर सीमांचल के इलाके में आ रहे हैं। उनके आगमन के पहले जेडीयू की ओर से यह आशंका जताई जा रही है कि अमित शाह बिहार में सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ सकते हैं।

बीजेपी का ‘मिशन बिहार’ तैयार, लालू वाले दांव से ही महागठबंधन को चुनौती देंगे शाह!
JDU का प्रखंड मुख्यालयों पर सतर्कता और जागरूकता मार्च

जदयू के प्रदेश अध्यक्ष उमेश सिंह कुशवाहा ने कहा कि BJP की ओर से सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने की साजिश के खिलाफ 27 सितंबर को प्रखंड मुख्यालयों पर सतर्कता और जागरूकता मार्च निकाला जाएगा। विकास विरोधी BJP की सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने की साजिश का पर्दाफाश किया जाएगा। 27 सितंबर को जागरूकता मार्च में पार्टी के सभी नेता, विधानमंडल दल के सदस्य और पार्टी प्रकोष्ठों के तमाम पदाधिकारी शामिल होंगे। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि BJP आरएसएस के एजेंडे पर कार्य कर रही है और संविधान के संघीय ढांचे को नष्ट कर रही है। जिससे आज भारत की धर्मनिरपेक्षता खतरे में है। इसके अलावे महागठबंधन की ओर से भी सीमांचल के इलाके में 29 सितंबर को महारैली की तैयारी की जा रही है।